‘पद्मावती’ होगी 100% सुपरहिट..! रचाएगी बॉक्स-ऑफिस कलेक्शंस का इतिहास !

बढ़ते विरोध और विवाद के बीच फिल्म की रिलीज डेट आगे बढ़ा दी गई है. (फोटो : फिल्म पोस्टर).
बढ़ते विरोध और विवाद के बीच फिल्म की रिलीज डेट आगे बढ़ा दी गई है. (फोटो : फिल्म पोस्टर).

पद्मावती’को लेकर सारे देश में विरोध का एक तूफान सा चल रहा है, इसे देखते हुए फिल्म के मेकर्स ने इसकी दिसंबर की रिलीज को टाल दिया है. उम्मीद की जा रही थी कि विवाद को देखते हुए दर्शक फिल्म के साथ दूरी बनाने के मूड में नजर आ रहे थे जिसके चलते यह फैसला लेना पड़ा और व्यावसायिक दृष्टि से यह फैसला उचित ही कहा जायेगा. लेकिन आपको पता है यदि पद्मावती रिलीज हुई तो उसकी बंपर कमाई हो सकती है. फिल्म को सुपरहिट होने से भी कोई नहीं रोक पाएगा.

ऐसे हैं हिट के समीकरण
दरअसल जानकारों का मानना है कि चुनावों के बाद एक माहौल तैयार किया जाएगा और विरोधियों को फिल्म दिखाकर बताया जायेगा कि फिल्म में आपत्तिजनक कुछ भी नहीं है. ’पद्मावती’ एक बड़ी फिल्म है, इसलिए इसे अगले दो सप्ताह बिलकुल खाली चाहिए. इसलिए संजय लीला भंसाली की निगाह 26 जनवरी पर है. भंसाली जानते हैं कि फिल्म की अच्छी खासी पब्लिसिटी हो चुकी है और यदि विवाद का निपटारा हो गया तो फिल्म के पहले वीकेंड का कलेक्शन बम्पर होगा.

इन वजहों से बॉक्स ऑफिस होगी हिट
यदि ’पद्मावती’ 26 जनवरी को रिलीज होती है तो इसके पहले दिन का कलेक्शन 40 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि इस दिन अक्षय कुमार की ’पैडमैन और सिद्धार्थ मल्होत्रा की ‘अय्यारी’भी रिलीज हो रही है. यदि वाकई ’पद्मावती’ इस तारीख को आती है तो इन दोनों फिल्मों का बना बनाया खेल खराब हो सकता है इसलिए इन दोनों को मैदान से हटना पड़ सकता है.

करणी सेना का मानना है कि फिल्म में पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. (फोटो : सोशल मीडिया)
करणी सेना का मानना है कि फिल्म में पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. (फोटो : सोशल मीडिया)

ऐसे शुरू हुआ विवाद
राजस्थान की करणी सेना, भाजपा के कुछ नेता और तमाम हिंदूवादी संगठनों ने ’पद्मावती’ में इतिहास के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. करणी सेना का मानना है कि फिल्म में पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. उन्होंने फिल्म रिलीज से पहले करणी सेना के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाए जाने की मांग की है. राजस्थान के कुछ राजघराने भी फिल्म के विरोध में हैं.

एक साल पहले जनवरी में फिल्म की शूटिंग के दौरान करणी सेना के कुछ लोगों ने संजय लीला भंसाली के साथ मारपीट करते हुए तोड़फोड़ की थी. उसके बाद अक्टूबर में ’पद्मावती’ पर बनाई गई रंगोली को बिगाड़ दिया था. किसी ने दीपिका की नाक काटने तो किसी ने भंसाली का सिर कलम करने की धमकी दे डाली.

कहा जा रहा है कि गुजरात चुनाव तक कोई भी नहीं चाहता कि यह फिल्म रिलीज हो,
कहा जा रहा है कि गुजरात चुनाव तक कोई भी नहीं चाहता कि यह फिल्म रिलीज हो. (फोटो : सोशल मीडिया)

सियासी हस्तक्षेप
ज्यादातर प्रदेशों के मुख्यमंत्री, केन्द्रीय सरकार के मंत्री ’पद्मावती’ के विरोध में ही बयानबाजी करते नजर आ रहे थे. कहा जा रहा है कि गुजरात चुनाव तक कोई भी नहीं चाहता कि यह फिल्म रिलीज हो, इसलिए जबर्दस्त विरोध के बावजूद हमेशा कुछ न कुछ बोलते रहने वाले प्रधानमंत्री भी खामोश हैं.

दीपिका ने की ये गलती
दरअसल, दीपिका ने यह कहकर माहौल थोड़ा खराब कर दिया था कि फिल्म को रिलीज होने से कोई नहीं रोक सकता लेकिन उम्मीद की जा रही है कि देर सबेर सब कुछ ठीक हो जायेगा और यदि यह फिल्म 26 जनवरी, 2018 को बेहतर माहौल में रिलीज होती है तो इसे हिट होने से कोई नहीं रोक सकता.

(इस लेख के विचार पूर्णत: निजी हैं. India-reviews.com इसमें उल्लेखित बातों का न तो समर्थन करता है और न ही इसके पक्ष या विपक्ष में अपनी सहमति जाहिर करता है. यहां प्रकाशित होने वाले लेख और प्रकाशित व प्रसारित अन्य सामग्री से जुड़े सभी दावे या आपत्ति के लिए सिर्फ लेखक ही जिम्मेदार है. आप भी अपने विचार या प्रतिक्रिया हमें editorindiareviews@gmail.com पर भेज सकते हैं.)

सुभाष शिरढोनकर

लेखक और स्तंभकार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *